अब घर के पास के कॉलेज स्कूल में ही होगा दाखिल - बदल गया नियम

अब घर के पास के कॉलेज स्कूल में ही होगा दाखिल – बदल गया नियम

अब घर के पास के कॉलेज स्कूल में ही होगा दाखिल :-छात्र-छात्राओं की परेशानियों को देखते हुए उन्हें अब घर के नजदीक वाले कॉलेजों में दाखिला मिलेगा। उच्च शिक्षा विभाग ने नए सत्र 2024-25 के लिए नामांकन शुरू होने से पहले इस योजना पर काम शुरू कर दिया है।

8士市 जनवरी को बीआरए बिहार विश्वविद्यालय समेत बिहार के सभी विश्वविद्यालयों की बैठक बुलाई गई है। दरअसल, विभाग को कॉलेज प्राचायों से जानकारी मिली है कि दूर-दराज के जिलों में नामांकन होने का कॉलेज में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति पर काफी असर पड़ रहा है। विभाग की निदेशक रेखा कुमारी ने इसे लेकर बीआरएबीयू समेत बिहार के सभी विश्वविद्यालयों के कुलसचिवों को पत्र जारी कर बैठक में बुलाया है। बैठक में दाखिला, वर्ग संचालन, आधारभूत संरचना, व्यावसायिक कोर्स के संचालन, शैक्षणिक व आर्थिक के साथ-साथ विवि-महाविद्यालयों की सभी कार्यविधियों की समीक्षा होगी।

निदेशक ने पत्र में 30 बिन्दुओं का जिक्र करते हुए इससे संबंधित पूरी तैयारी कर कागजात के साथ बैठक में आने के लिए कहा है। बताया गया है कि छात्र-छात्राओं को अच्छी उपस्थिति के लिए कॉलेज बदलने का अवसर भी मिल सकता है। पिछले साल से स्नातक में सीबीसीएस प्रणाली के तहत नामांकन हो रहा है। इस सत्र में नामांकन लिए छात्रों को 4 साल पढ़ाई करनी है। 8 सेमेस्टर में 1 सेमेस्टर पूरा हुआ है। विभाग 1 वर्ष की पढ़ाई पूरी कर कॉलेज बदलने का विकल्प देने पर विचार कर रहा है।

बैठक में यह बताना होगा कि टीचिंग फैकल्टी के अभाव में किन-किन कॉलेजों में पढ़ाई बाधित है। इसकी कॉलेज एवं विषयवार जानकारी मांगी गई है। आंतरिक स्रोत की राशि खर्च नहीं होने पर 31 मार्च तक कोषागार में जमा कराने, तृतीय वर्ग के कर्मी की रिक्ति एवं रोस्टर, विवि व कॉलेजों में बेकार पड़ी चीजों का निस्तारण, चालू खाते को बचत खाता में तब्दील करने, कॉलेजों में शिक्षकों की न्यूनतम 5 कक्षाओं का संचालन, एक शिक्षक को एक से अधिक प्रशासनिक कार्य या प्राचार्य का कार्य आवंटन, ऑडिट रिपोर्ट पर विचार, कॉलेजों की वेबसाइट, संबद्ध कॉलेजों के प्रदर्शन के आधार पर असंबद्ध करने, वोकेशनल कोर्स में फैकल्टी की योग्यता, प्रैक्टिकल संचालन में परेशानी, कंप्यूटर लैब, नामांकन राशि की उपयोगिता, इनफिलिबनेट सक्रिय लाइब्रेरी, छात्रावास मेस का संचालन, कन्या उत्थान योजना की प्रगति आदि की समीक्षा होगी।

उधर, विवि को 3 दिनों के अंदर ही इसकी तैयारी करनी है। इससे विवि पदाधिकारी सकते में हैं। दरअसल, पिछले साल इसी तरह शिक्षा विभाग ने बैठक बुलाई थी। इसमें कुलपति के नहीं जाने पर विभाग ने कार्रवाई करते हुए वेतन के साथ विवि के खातों के संचालन पर रोक लगा दी थी। इस बार विवि प्रशासन पत्र आने के साथ ही अलर्ट है। सभी बिन्दुओं पर रिपोर्ट तैयार करने का काम आनन-फानन में शुरू कर दिया गया है। शिक्षकों का दूसरे कॉलेज से आवश्यकतानुसार संबद्ध करने की भी रिपोर्ट ली जाएगी।

पटना| सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं के लिस्ट ऑफ कैंडिडेट (एलओसी) फॉर्म में संशोधन का मौका दे दिया है। बोर्ड ने एलओसी फॉर्म करेक्शन विंडो ओपन कर दिया है। parikshasangam.cbse. gov.in पर करेक्शन कर सकते हैं। इसके लिए स्कूलों को 500 रुपए का जुर्माना भरना होगा, जबकि आवेदन फॉर्म में संशोधन करने वाले छात्रों को 1000 रुपए जमा करना होगा। बोर्ड से कहा है कि उम्मीदवार इस बात का ध्यान रखें कि आवेदन फॉर्म में खुद का नाम, पिता का नाम, माता का नाम, जन्मतिथि में कोई भी बदलाव नहीं किया जा सकेगा। उम्मीदवार अपने नाम में हुई गलतियों को सिर्फ सुधार सकता है। गौरतलब है कि छात्रों के विवरण के लिए एलओसी फॉर्म जारी किया गया था, जिसे हर छात्र के लिए भरा जाना अनिवार्य था। इससे पहले सुधार करने का मौका बोर्ड ने नहीं दिया था। स्कूलों व स्टूडेंट्स के आग्रह पर करेक्शन विंडो खोला गया है।

इन्टरमीडिएट वार्षिक / कम्पार्टमेन्टल-सह-विशेष परीक्षा, 2023 में सम्मिलित परीक्षार्थियों के अंक पत्रादि एवं मूल प्रमाण पत्र में त्रुटि सुधार हेतु आवश्यक सूचना|

एतद् द्वारा राज्य के +2 स्तर के मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थानों के प्रधान, इन्टरमीडिएट वार्षिक / कम्पार्टमेन्टल-सह-विशेष परीक्षा, 2023 में सम्मिलित परीक्षार्थियों, उनके अभिभावक, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (मा० शि०) तथा सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को सूचित किया जाता है कि उक्त वर्ष की परीक्षा में सम्मिलित परीक्षार्थियों का अंक पत्रादि एवं मूल प्रमाण पत्र समिति द्वारा निर्गत किया जा चुका है। परीक्षा संचालन के क्रम में परीक्षार्थी के निर्गत सूचीकरण प्रमाण पत्र तथा प्रवेश पत्र में त्रुटि सुधार शिक्षण संस्थान के प्रधान के माध्यम से ऑनलाईन करने हेतु समिति द्वारा विभिन्न विज्ञप्तियों के माध्यम से कई बार अवसर प्रदान किया गया था। इसके बावजूद कतिपय छात्र/छात्राओं / उनके अभिभावक / शिक्षण संस्थान के प्रधान के माध्यम से अभी भी अंक पत्रादि / मूल प्रमाण पत्र में त्रुटि सुधार करने हेतु आवेदन प्राप्त हो रहे हैं।

वैसे छात्र/छात्रा जिनके उक्त वर्ष की परीक्षा से संबंधित निर्गत अंक पत्रादि / मूल प्रमाण पत्र में लघु/दीर्घ त्रुटि रह गई है, उनके लिए छात्रहित को ध्यान में रखते हुए त्रुटि सुधार कराने के लिए समिति के प्रमण्डलीय क्षेत्रीय कार्यालय में आवेदन साक्ष्य सहित समर्पित / जमा करने हेतु अवसर प्रदान किया जाता है।

ऐसे छात्र/छात्रा अपने अंक पत्रादि/ मूल प्रमाण पत्र में लघु/दीर्घ त्रुटि सुधार/संशोधन हेतु संगत साक्ष्य की स्वसत्यापित छायाप्रति तथा प्रथम श्रेणी दण्डाधिकारी के माध्यम से शपथ-पत्र (Affidavit) की मूल प्रति के साथ अपना आवेदन शिक्षण संस्थान के प्रधान के पास जमा करेंगे।

छात्र/छात्रा द्वारा त्रुटि सुधार हेतु जमा किये गये आवेदन एवं उसके साथ संलग्न साक्ष्य की जाँच शिक्षण संस्थान के प्रधान अपने शिक्षण संस्थान में संधारित अभिलेख यथा-सूचीकरण एवं प्रवेश पत्र निर्गत से संबंधित पंजी (रजिस्टर), मूल नामांकन पंजी एवं क्रॉस लिस्ट (टी०आर०) आदि से करेंगे तथा सत्यापनोपरांत अपनी स्पष्ट अनुशंसा / मंतव्य के साथ आवेदन को अग्रसारित कर छात्र/छात्रा को हस्तगत् करा देंगे।

शिक्षण संस्थान के प्रधान द्वारा सत्यापित आवेदन की प्रति (वर्णित साक्ष्य / अभिलेख सहित) के साथ छात्र/छात्रा अपने अंक पत्रादि में लघु/दीर्घ त्रुटि सुधार/संशोधन के लिए निर्धारित शुल्क एवं साक्ष्य के साथ समिति के प्रमण्डलीय क्षेत्रीय कार्यालय में संबंधित काउन्टर पर जमा करेंगे एवं प्राप्ति रसीद ले लेंगे। तत्पश्चात् अंक पत्रादि में संशोधन की कार्रवाई होने के उपरान्त छात्र/छात्रा अपना संशोधित / त्रुटिरहित अंक पत्र/औपबंधिक प्रमाण पत्र/मूल प्रमाण पत्र (जिसके लिए आवेदन किया गया है) की द्वितीय प्रति प्राप्त कर सकते हैं।

सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी से अनुरोध है कि उपर्युक्त वर्णित कार्य के संबंध में जिलान्तर्गत मान्यता प्राप्त +2 स्तर के सभी शिक्षण संस्थान के प्रधान को अपने स्तर से सूचित करने की कृपा किया जाए।

Whatsapp Group JoinCLICK HERE
TELEGRAMjoin
YOUTUBESUBSCRIBE

Latest Jobs

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top