एचआर बन कमा सकते हैं लाखों- जानिए कैसे बनते हैं एचआर

एचआर बन कमा सकते हैं लाखों- जानिए कैसे बनते हैं एचआर

एचआर बन कमा सकते हैं लाखों- ए चआर मैनेजर को मैनेजमेंट की बेस्ट जॉब्स में से एक माना जाता है। किसी कंपनी में एक एचआर मैनेजर का काम सिर्फ हायरिंग जैसे काम करना ही नहीं है बल्कि कर्मचारियों को बेहतर माहौल देने और उनके वेलफेयर के लिए काम करने जैसी जिम्मेदारियां भी होती हैं।

एचआर मैनेजमेंट में डिप्लोमा के लिए बारहवीं पास होना जरूरी है। यह एक साल का सर्टिफिकेट लेवल का कोर्स है जिसमें ह्यूमन को एक रिसोर्स के रूप में प्रभावी तरीके से इस्तेमाल करने की मैनेजमेंट स्किल सिखाई जाती है। इसमें एडमिशन लेने के लिए योग्यता कॉलेजों के अनुसार भिन्न-भिन्न हो सकती है। बारहवीं में कम-से-कम 50 फीसदी मार्क्स होने चाहिए।

बीबीए एचआर मैनेजमेंट तीन साल का यूजी कोर्स है। इसमें भी एडमिशन बारहवीं के बाद लिया जा सकता है। इसमें एडमिशन सीयूईटी यूजी से होता है। कुछ कॉलेज या यूनिवर्सिटी अपने एग्जाम भी कराती है।

एचआर का मुख्य उद्देश्य कम्पनी की नीतियों को लचीला बनाना है ताकि कर्मचारियों को सहायता मिल सके। एचआर मैनेजर किसी संगठन में कल्चर और वैल्यूज के निर्माण में मदद करते हैं। एचआर की एक सबसे महत्वपूर्ण जिम्मेदारी होती है कनफ्लिक्ट मैनेजमेंट। वह संगठन में टीम निर्माण में मदद करता है। वह लोगों के इंगेजमेंट और डेवलपमेंट में भी मदद करता है। एचआर के पास अच्छी कम्युनिकेशन पावर होना जरूरी है। एचआर के क्षेत्र में कॅरियर बनाने के लिए आपके पास बढ़िया कम्युनिकेशन स्किल्स का होना आपका प्लस प्वाइंट हो सकता है। एडमिनिस्ट्रेटिव टास्क एचआर के रोल का एक मुख्य भाग है। इन ड्यूटी में एम्प्लोयी की छुट्टी, अब्सेंस, अन्सेंस फाइल्स, एम्प्लॉईज के ऑउटफ्लो और पेरोल जैसे क्षेत्र आते हैं।

एमबीए एचआर मैनेजमेंट दो साल का पीजी कोर्स है। इसमें एडमिशन लेने के लिए ग्रेजुएट होना चाहिए। साथ ही कैट, सीमैट जैसी परीक्षाएं भी पास करनी होती है। इन परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने के बाद अभ्यर्थी इन कोर्सेज में एडमिशन ले सकते हैं। एचआर मैनेजर को क्विक डिसीजन मेकर होना चाहिए यानि उनमें त्वरित निर्णय लेने की क्षमता होनी चाहिए। कई कार्य ऐसे होते हैं, जिनकी प्रक्रिया काफी लंबी चलती है। ऐसे में एक अच्छे एचआर मैनेजर को हार्ड वर्किंग यानी मेहनती होना जरूरी है। एचआर के पास कर्मचारियों की बात सुनने के लिए पर्याप्त धैर्य होना चाहिए, ताकि वह उनकी बातों को अच्छी तरह से समझ सकें और तत्पश्चात उनके हित में निर्णय ले सकें। अगर आप किसी कंपनी के एचआर डिपार्टमेंट में एचआर के पद के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो उसके लिए जरूरी है कि आपके पास पारस्परिक कौशल का गुण होना चाहिए।

टीमवर्क एचआर के लिए महत्वपूर्ण स्किल है। इससे सहयोगियों के साथ मिलकर काम करने की क्षमता का विकास होता है। इसके अलावे एचआर रिपोर्टिंग स्किल्स में अलग-अलग ह्यूमन रिसोर्स से आने वाले डेटा का उपयोग करके उसे पढ़के और व्याख्या करके रिपोटों को तैयार करते हैं, इसीलिए बेहतर रिपोर्टिंग स्किल्स का होना बेहद आवश्यक है।

एक कंपनी में काम करते समय आपको विदेशी कंपनी के एम्प्लॉई से डील करने की भी जरुरत होती है। ऐसे में आपकी भाषा में लिखने और बोलने पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए। एक एचआर मैनेजर में इम्पैथी होनी बेहद आवश्यक है। यानी वह दूसरे की सिचुएशन में स्वयं को रखकर सोच सके। इसी के जरिए वे कर्मचारियों की समस्याओं का अंदाजा लगा सकते हैं। साथ ही उन्हें कर्मचारियों से संबंधित नीतियों के निर्माण एवं उन्हें लागू करने के लिए श्रम कानूनों की अच्छी जानकारी भी होना आवश्यक है।

Whatsapp Group JoinCLICK HERE
TELEGRAMjoin
YOUTUBESUBSCRIBE

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top