डिजिटल उत्पाद का हुनर सिख कमा सकते हैं लाखों

डिजिटल उत्पाद का हुनर सिख कमा सकते हैं लाखों

डिजिटल उत्पाद का हुनर सिख कमा सकते हैं लाखों;-इन दिनों कंपनियों को ऐसे लोगों की खूब जरूरत पड़ रही है, जो उनके डिजिटल उत्पाद या सेवाओं को यूजर के लिए आसान और उपयोगी बना सकें। ऐसे मौकों का लाभ उठाना है, तो यूजर इंटरफेस (यूआई) और यूजर एक्सपीरिएंस (यूएक्स) का स्किल सीखना होगा। वैश्विक और फ्रीलांस मौकों के इस स्किल को कैसे अपना सकते हैं, बता रही हैं तृप्ति मिश्रा

लिंक्डइन की एक रिपोर्ट के अनुसार यूएक्स/यूआई डिजाइनिंग का स्किल कामकाजी दुनिया के शीर्ष पांच सबसे अधिक मांग वाले कौशलों में से एक है। इस दौर में बैंकिंग जैसी जटिल आर्थिक गतिविधि से लेकर ई-पोर्टल पर खरीदारी जैसी सामान्य गतिविधियां तक मोबाइल, लैपटॉप या ऐसे ही माध्यमों से हो रही हैं। ऐसे में वेबसाइट या ऐप या ऐसी डिजिटल सेवाओं के उस पक्ष को, जिससे यूजर जुड़ा होता है, बेहतर बनाने का काम भी बढ़ा है। इसे यूजर इंटरफेस कहते हैं। एडोब के एक सर्वे में शामिल 90 फीसदी विभाग प्रमुखों ने कहा कि उनकी कंपनियों में यूएक्स/यूआई डिजाइनरों की संख्या बढ़ाना एक प्रमुख प्राथमिकता है, जबकि 73 प्रतिशत अगले पांच वर्षों में अधिक से अधिक यूएक्स/यूआई डिजाइनरों को नियुक्त करने की
योजना बना रहे थे।

यूआई और यूएक्स दोनों ही किसी भी डिजिटल उत्पाद के दो महत्वपूर्ण पहलू हैं। यूआई डिजाइन किसी डिजिटल प्रोडक्ट जैसे वेबसाइट या ऐप के डिजाइन, रंग और देखने योग्य विभिन्न तत्वों पर केंद्रित होती है, ताकि वह उपयोग में आसान, मजेदार व दिखने में आकर्षक हो। जबकि यूएक्स डिजाइनर का ध्यान इस उत्पाद का उपयोग करने वाले लोगों को आने वाली समस्याओं और उनके समाधान अपनी डिजाइन के माध्यम से पेश करने पर होता है। इसके लिए यूजर्स के दिमाग को समझना और उसके अनुसार डिजाइन तैयार करनी होती है।

वेब डिजाइनर जहां वेबसाइट के सौंदर्यबोध, उपयोग और खाके पर ध्यान देते हैं और उसे अलग-अलग डिवाइस के अनुसार बनाते हैं। वहीं, यूआई/यूएक्स डिजाइनर सिर्फ वेबसाइट ही नहीं, ऐप, चैटबॉट्स जैसे अन्य डिजिटल उत्पाद या सेवाओं के लिए भी काम करते हैं। वे इसके सौंदर्यबोध, डिजाइन व यूजर के बेहतर अनुभव को ध्यान में रखते हैं। वे यूजर रिसर्च भी करते हैं।

के रूप में, आपका पोर्टफोलियो सबसे महत्वपूर्ण है। आप व्यक्तिगत प्रोजेक्ट पर काम करके, वॉलंटरी वर्क करके या डिजाइन प्रतियोगिताओं में शामिल होकर अपना पोर्टफोलियो मजबूत बनाएं। यहां बड़ी कंपनियां कौशल को डिग्री से ज्यादा वरीयता दे रही हैं, ऐसे में डिजाइन और क्रिएटिविटी में कुशल युवा अनुभव के दम पर काफी आगे जा सकते हैं। विशाल पाल, सह-संस्थापक एवं सीईओ, लॉजिकल कैनवास कंपनी (सॉफ्टवेयर वेब/मोबाइल ऐप डेवलपमेंट), दिल्ली

यह वैश्विक मौकों का स्किल है। फ्रीलांस काम भी कर सकते हैं। हेल्थकेयर सेक्टर, बैंकिंग इंडस्ट्री, एजुकेशनल ऑनलाइन मंच, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, ई-कॉमर्स पोर्टल्स, मीडिया व एंटरटेनमेंट व सरकारी ऑनलाइन मंचों पर मौके मिलेंगे। डिजाइन असिस्टेंट, सीनियर यूएक्स डिजाइनर, लीड यूएक्स डिजाइनर, यूआई यूएक्स इंजीनियर जैसे पदों पर काम मिलता है। क्या होगा वेतनः भारत में शुरुआती सैलरी 15 से 20 हजार रुपये प्रति माह हो सकती है।

बूटकैंप व स्वतंत्र प्रोजेक्ट करें। टेक स्किल के बूटकैंप उन व्यक्तियों के लिए उपयोगी होते हैं, जो किसी विशिष्ट क्षेत्र में अपना करियर शुरू करना चाहते हैं या अपने कौशल का विस्तार करना चाहते हैं। यूआई/ यूएक्स डिजाइनिंग के ऐसे बूटकैंप 9 से 40 सप्ताह में समाप्त किए जा सकते हैं। इनसे डिजाइन, प्रोटोटाइप आदि में व्यावहारिक प्रशिक्षण के साथ एक पेशेवर पोर्टफोलियो बनाने में मदद मिल सकती है। अगर अन्य तकनीकी स्किल हैं, तो दसवीं के बाद भी बूटकैंप किए जा सकते हैं।

  • ■ किसी भी स्ट्रीम में 12वीं पास करके यूएक्स/यूआई डिजाइनिंग के शॉर्ट टर्म ऑनलाइन/ऑफलाइन कोर्स कर सकते हैं।
  • ■ ऐसे में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे एचटीएमएल या सीएसएस भी आपको सीखनी होगी।
    ■ ग्राफिक डिजाइन की समझ बनाएं।
  • ■ नए सिरे से डिग्री कोर्स करने के लिए यूआई यूएक्स स्पेशलाइजेशन के साथ डिजाइन में बैचलर्स डिग्री की राह पकड़ सकते हैं। कंप्यूटर साइंस, ग्राफिक डिजाइन या वेब प्रोग्रामिंग, बीटेक ग्रेजुएट इस स्किल को बहुत सहजता से अपना सकते हैं।
  • ■ यूआई यूएक्स डिजाइन में यूजी और पीजी डिप्लोमा के भी विकल्प हैं। देश के कई नामी सरकारी और निजी संस्थान यह कोर्स करवाते हैं। ज्यादातर में प्रवेश के लिए एंट्रेंस एग्जाम होता है। जैसे पर्ल एकेडेमी, एमआईटी इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, निफ्ट, दिल्ली आदि।
  • ■ वायरफ्रेमिंग, प्रोटोटाइप, इन्फॉर्मेशन आर्किटेक्चर सीखें।
  • एडोब डिजाइन टूल, एडोब एक्सडी, स्केच, फिग्मा पर पकड़ बनाएं।
  • फोटोशॉप और आफ्टर इफेक्ट्स में भी कौशल बनाएं।
  • ■ कोई केस स्टडी लेकर उसकी डिजाइनिंग का अपना पोर्टफोलियो बनाएं। इसके लिए MentorCruise, Udemy के ट्यूटोरियल देखें या यूट्यूब पर ‘UI/UX design portfolio tips’ लिखकर सर्च करें। कई वीडियो ट्यूटोरियल मिल जाएंगे।
  • ■ पोर्टफोलियो को Behance, Dribbble, Designmodo India जैसे मंचों पर साझा करें। फ्रीलांस काम के लिए LinkedIn, Upwork, Fiverr पर पोर्टफोलियो साझा करें।
  • ■ Coursera (कोर्स: स्पेशलाइजेशन इन यूएक्स एंड यूआई: इंट्रोडक्शन टु यूजर एक्सपीरिएंस डिजाइन बाए जॉर्जिया टेक (ये कोर्स निशुल्क है); गूगल यूएक्स डिजाइन सर्टिफिकेशन- (सशुल्क)
  • ■ Udemy (कोर्स: फिग्मा यूआई यूएक्स डिजाइन एसेंशियल)
  • ■Great Learning (कोर्स: 2024 यूआई यूएक्स डिजाइन फंडामेंटल्स फॉर बिगनर्स) linkedin learning (कोर्स यूआई डिजाइन)
  • ■ Edex (यूआई/यूएक्स बूटकैंप)
  • ■Hackdesign, Figma (निशुल्क ट्यूटोरियल कंटेंट)
Whatsapp Group JoinCLICK HERE
TELEGRAMjoin
YOUTUBESUBSCRIBE

Latest Jobs

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top