फेसबुक YouTube Instagram से सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर बन कमा सकते हैं घर बैठे लाखों

फेसबुक YouTube Instagram से सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर बन कमा सकते हैं घर बैठे लाखों

फेसबुक YouTube Instagram से सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर बन कमा सकते हैं घर बैठे लाखों:-•वर्तमान का समय डिजिटल मीडिया का समय है। आज लगभग सभी लोग किसी ना किसी सोशल मीडिया प्लेटफार्म का इस्तेमाल कर रहे हैं। भारत में सोशल मीडिया यूजर में से अधिकतर इनका इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं कई लोग इसका इस्तेमाल प्रोफेशनली भी कर रहे हैं और इससे अच्छी खासी आमदनी भी कमा रहे हैं।

आज कई लोग किसी एक कैटेगरी को चुनकर लगातार उससे जुड़ा कंटेंट किसी-न-किसी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर पोस्ट करते हैं। जब फॉलोअर्स बढ़ते हैं, तो ऐसे लोगों को सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर्स कहा जाता है। कम्पनियां ऐसे लोगों से कांटेक्ट करती हैं और ये लोग कुछ रकम लेकर कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विसेस से जुड़ी पोस्ट करते हैं, इस पूरी प्रक्रिया को इन्फ्लुएंसर मार्केटिंग कहते हैं।

सबसे पहले इन्फ्लुएंसर्स अपनी एक कैटेगरी तय करते हैं। जैसे-फाइनेंस, एजुकेशन, स्पिरिचुअल, मोटिवेशनल। कंपनी हमेशा अपनी कैटेगरी से जुड़े इन्फ्लुएंसर्स से ही कांटेक्ट करती है, इसीलिए कंपनी को उससे जुड़ी ऑडियंस आसानी से मिल जाती है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को व्यापक
रूप से अपनाने से प्रभावशाली लोगों की एक नई नस्ल को जन्म मिला है, जिन्होंने बड़ी संख्या में फॉलोअर्स जुटाए हैं। ब्रांड अपने लक्षित दर्शकों तक पहुंचने के लिए इन प्रभावित करने वालों की क्षमता को पहचानते हैं और अपने उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए उनके प्रभाव का लाभ उठाते हैं।

प्रभावित करने वालों को अक्सर पारंपरिक हस्तियों और विज्ञापनों की तुलना में अधिक भरोसेमंद और प्रामाणिक माना जाता है। उन्हें संबंधित व्यक्तियों के रूप में देखा जाता है जो अपने अनुभवों और सिफारिशों को अपने अनुयायियों के साथ साझा करते हैं।

किसी भी कंपनी को अपने ब्रांड पर लोगों का विश्वास बनाने में बहुत समय लग जाता है। ऐसे में जब कंपनी इन्फ्लुएंसर्स से संपर्क करती है तो उनके फॉलोअर्स इन्फ्लुएंसर्स पर अपने विश्वास के कारण उस ब्रांड पर भी आसानी से विश्वास कर लेते हैं। इसके लिए इन्फ्लुएंसर्स को यह ध्यान रखना होगा कि वे अच्छे ब्रांड्स को ही एंडोर्स करें। किसी सेलिब्रिटी से विज्ञापन करवाने पर सेलिब्रिटीज बहुत ही ज्यादा चार्ज करते हैं। इसके उलट इन्फ्लुएंसर्स के पास कम लेकिन सेलेक्टेड ऑडियंस होती है। ये ब्रांड को एंडोर्स करने के लिए सेलिब्रिटीज के मुकाबले कम चार्ज करते हैं। जब भी कोई कंपनी या ब्रांड मार्केटिंग करती है, तो उनका हर बार अलग-अलग लक्ष्य होता है। कभी वे सिर्फ जागरूकता लाना चाहती है, कभी किसी विशेष ऑफर का प्रचार करती है। इन्फ्लुएंसर्स को देखना होगा कि वो किन चीजों को प्रमोट करें।

एक ऐसे कॅरियर का चयन करें जो आपकी रुचियों और जुनून को दर्शाए और जहां आप अपनी विशेषज्ञता प्रदर्शित कर सकें।

उच्च गुणवत्ता वाली सामग्री पोस्ट करके और अपने फॉलोअर्स के साथ जुड़कर इंस्टाग्राम, टिकटॉक और यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपनी मजबूत उपस्थिति बनाएं।

उन ब्रांडों के साथ सहयोग करें जो आपके कॅरियर और व्यक्तिगत ब्रांड के साथ समायोजन करता हो। इससे आपको अपनी पहुंच बढ़ाने और अपने प्लेटफॉर्म का मोनोटाइजेशन करने में मदद मिल सकती है।

ये याद रखें कि आपसे जो ऑडियंस जुड़ रहे हैं उन्हें आप पर भरोसा है। उनके विश्वास को बनाए रखें। अपने मूल्यों और व्यक्तित्व के प्रति सच्चे रहें और उन उत्पादों को बढ़ावा देने से बचें जो आपके ब्रांड के अनुरूप नहीं है।

Whatsapp Group JoinCLICK HERE
TELEGRAMjoin
YOUTUBESUBSCRIBE

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top