बिहार में 1 लाख शिक्षकों का बहाली फिर-इस दिन से आवेदन

बिहार में 1 लाख शिक्षकों का बहाली फिर-इस दिन से आवेदन

1 लाख शिक्षकों की आएगी वैकेंसी

बिहार में 1 लाख शिक्षकों का बहाली फिर-इस दिन से आवेदन:–पिछले दिनों 1.70 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल अभ्यर्थियों के प्रमाणपत्रों की जांच मामले पर वीपीएससी और शिक्षा विभाग के बीच पत्रवार से बढ़ी कड़वाहट खत्म हो गई। मंगलवार को बीपीएससी के अध्यक्ष अतुल प्रसाद और शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के साथ ही आयोग और विभाग के उच्च अधिकारियों के वीच हुई बैठक में वर्तमान शिक्षक भर्ती से लेकर आगामी वैकेंसी पर चर्चा हुई।

तय किया गया कि अगले महीने ही बीपीएससी से दूसरे चरण के तहत वैकेंसी जारी कर दी जाएगी। लक्ष्य रखा गया कि नवंबर के अंत तक परीक्षा और दिसंबर में परिणाम घोषित कर दें। दूसरे चरण में लगभग एक लाख से अधिक वैकेंसी होगी। इसमें कक्षा 6 से 8 तक लगभग 52 हजार की रिक्ति आएगी।

जबकि कक्षा 9 से 12 तक के रिक्त रह गए पदों को भी दूसरे चरण की वैकेंसी में जोड़ने के बाद कुल रिक्ति होगी। कक्षा 1 से 5 तक शिक्षक की रिक्ति नहीं आएगी। शिक्षा विभाग का लक्ष्य है कि वर्तमान शिक्षक भर्ती का रिजल्ट जारी होते ही अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में वीपीएससी को वैकेंसी भेज दें, ताकि 15 अक्टूबर तक आवेदन की प्रक्रिया भी शुरू हो जाए।

इस पोस्ट में कौन-कौन सी जानकारी दी गई है?..

  • 1 लाख शिक्षकों की आएगी वैकेंसी
  • कक्षा 1 से 5 तक के लिए नहीं आएगी वैकेंसी
  • न्यूनतम अंक में भी छूट देने पर चल रहा विचार
  • हाईस्कूल शिक्षकों का परिणाम 25 तक आएगा
  • तो पुरुषों से भरी जाएगी आरक्षित सीट
  • 3.90 लाख के प्राथमिक शिक्षक बनने पर संशय
  • प्राइमरी व मिडिल का एक ही शैक्षिक कैलेंडर
  • अर्हता

| वह सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं…

1 लाख शिक्षकों की आएगी वैकेंसी

  • 6 से 8 तक लगभग 52 हजार वैकेंसी आएगी, 15 अक्टूबर तक आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी|
  • 9 से 12 तक के रिक्त रह गए पद और नए पदों को जोड़कर उच्च उच्चतर माध्यमिक की वैकेंसी होगी|

कक्षा 1 से 5 तक के लिए नहीं आएगी वैकेंसी

अक्टूबर में आने वाली वैकेंसी में कक्षा 1 से 5 तक की रिक्ति नहीं आएगी। इन कक्षाओं के लिए पर्याप्त संख्या में शिक्षक रहने का अनुमान है। अभी 1.70 लाख शिक्षक भर्ती के दौरान कक्षा 6 से 8 की कक्षाओं के शिक्षक पदों की रिक्ति नहीं थी। इसलिए कक्षा 6 से 8 तक की रिक्ति अधिक होगी

न्यूनतम अंक में भी छूट देने पर चल रहा विचार

अभी सामान्य अध्ययन की लिखित परीक्षा में सामान्य वर्ग के लिए 40 प्रतिशत, पिछड़ा वर्ग के लिए 36.5, अत्यंत पिछड़ा वर्ग के लिए 34 तथा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, महिला व दिव्यांग अभ्यर्थियों के लिए 32 प्रतिशत न्यूनतम अर्हतांक है। लेकिन कुल रिक्ति का 75 प्रतिशत रिजल्ट देने के लिए न्यूनतम अंक को कम किया जा सकता है।

हाईस्कूल शिक्षकों का परिणाम 25 तक आएगा

बीपीएससी के अनुसार, कक्षा 9 से 12 तक के शिक्षक भर्ती परीक्षा का रिजल्ट 25 सितंबर तक जारी कर दिया जाएगा। कक्षा 1 से 5तक के शिक्षक पद के लिए सभी 7 लाख से अधिक अभ्यर्थियों के प्रमाणपत्रों की जांच नहीं कराई जाएगी, बल्कि अंकों के आधार पर शार्टलिस्टेड किए गए लगभग 1 लाख अभ्यर्थियों के प्रमाण पत्रों की जांच होगी|

बीएड अभ्यर्थियों का मामला

3.90 लाख के प्राथमिक शिक्षक बनने पर संशय

सुप्रीम कोर्ट के आदेश कि अब कक्षा 1 से 5 तक के शिक्षक पद के लिए डीएलएड उत्तीर्ण वाले ही शिक्षक बन सकेंगे, के संबंध में बीपीएससी ने शिक्षा विभाग से स्पष्ट गाइडलाइन मांगी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत 3.90 लाख बीएड पास अभ्यर्थियों के प्राथमिक शिक्षक बनने पर संशय है। शिक्षा विभाग के अनुसार, मामले में महाधिवक्ता से राय-विमर्श कर बीपीएससी को जानकारी दी जाएगी। पिछले माह अगस्त में सुप्रीम कोर्ट ने बिहार में शिक्षक भर्ती मामले पर अलग से कोई आदेश तो नहीं दिया था, लेकिन अपेक्षा की थी कि पिछला आदेश ही यहां लागू हो। इसमें कहा गया था कि कक्षा 1 से 5 तक के लिए बीएड उत्तीर्ण नहीं सिर्फ डीएलएड और इसके समकक्ष उत्तीर्ण ही प्राथमिक शिक्षक बन सकेंगे।

…तो पुरुषों से भरी जाएगी आरक्षित सीट

वर्तमान में 1.70 लाख शिक्षक भर्ती के लिए 75% रिजल्ट देने का लक्ष्य रखा गया है। इसमें कक्षा 1 से 5 तक की रिक्ति में 50% महिला अभ्यर्थियों के लिए रिजर्व है। कक्षा 9-12 तक की रिक्ति में 35% महिलाओं के लिए रिजर्व है। हाईस्कूलों में महिला अभ्यर्थियों की संख्या कम होने पर सीट पुरुष अभ्यर्थियों से भरे जाएंगे।

प्राइमरी व मिडिल का एक ही शैक्षिक कैलेंडर

राज्य के 70 हजार प्राइमरी और मिडिल स्कूलों में पढ़ाई अब एक ही शैक्षणिक कैलेंडर से होगी। पहली से 8वीं तक के बच्चों को होमवर्क भी एक ही शैक्षिक कैलेंडर से दिए जाएंगे। इससे सभी जिलों के सभी प्राइमरी-मिडिल स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई, होमवर्क और मूल्यांकन में एकरूपता होगी|

अर्हता

  • • कक्षा 6 से 8 स्नातक, सीटीईटी या टीईटी और बीएड या समकक्ष।
  • • माध्यमिक: स्नातक, एसटीईटी व बीएड उत्तीर्ण होना जरूरी। 
  • उच्च माध्यमिक : स्नातकोत्तर, एसटीईटी व बीएड |

कुछ महत्तवपूर्ण लिंक

YOUTUBESUBSCRIBE
TELEGRAMjoin

BRABU TDC Part 2 Exam Date 2023–click here

Link To Download BRABU PG Merit 1st List 2023 Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top