विवि-कॉलेज: हाजिरी 75% से कम तो परीक्षा नहीं दे पाएंगे

विवि-कॉलेज: हाजिरी 75% से कम तो परीक्षा नहीं दे पाएंगे

विवि-कॉलेज: हाजिरी 75% से कम तो परीक्षा नहीं दे पाएंगे:– राज्य के सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में छात्रों की 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य होगी। राजभवन की ओर से इस बाबत बुधवार की रात सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को निर्देश जारी किए गए हैं। 75 प्रतिशत उपस्थिति नहीं होने पर विद्यार्थियों को परीक्षा फॉर्म भरने नहीं दिया जाएगा। उन्हें परीक्षा में किसी सूरत में शामिल होने का मौका नहीं मिलेगा।

विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में 75 प्रतिशत से कम उपस्थिति रहने पर विद्यार्थियों को परीक्षा में शामिल नहीं होने दिया जाएगा। राज्यपाल सह कुलाधिपति राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को निर्देश दिया है कि कक्षा में 75 प्रतिशत से कम हाजिरी वाले छात्र-छात्राओं को परीक्षा में भाग लेने की अनुमति नहीं दें।

विवि-कॉलेजों में 75% उपस्थिति अनिवार्य

पोस्ट में क्या-क्या है?

  • 75 %हाजिरी ना होने पर फॉर्म परीक्षा नहीं भरने दिया जाएगा |
  • 75 %हाजिरी ना होने पर  विद्यार्थियों का नामांकन रद्द भी किया जा सकता है।
  • शिक्षा विभाग ने भी उठाये कई कदम|
  • कम हाजिरी पर परीक्षा प्रपत्र नहीं भर सकेंगे विद्यार्थी?
  • छात्र छात्राओं के लिए महत्वपूर्ण बातें फॉलो करें

75 %हाजिरी ना होने पर फॉर्म परीक्षा नहीं भरने दिया जाएगा |

उन्होंने इस बात पर नाराजगी भी जतायी है कि शिकायत मिल रही है कि 75 प्रतिशत से कम हाजिरी वाले विद्यार्थी भी विश्वविद्यालय और कॉलेजों की परीक्षा में बैठ रहे हैं। कलपतियों को निर्देश है कि 75 प्रतिशत से कम उपस्थिति वाले विद्यार्थियों को परीक्षा फॉर्म भरने की इजाजत नहीं दी जाए। जबतक की कोई अन्य उचित कारण नहीं हो। इस संबंध में राज्यपाल के प्रधान सचिव रॉबर्ट एल चोंग्यू ने सभी कुलपतियों को पत्र भेजा है।

75 %हाजिरी ना होने पर  विद्यार्थियों का नामांकन रद्द भी किया जा सकता है।

इसके पहले शिक्षा विभाग ने कहा था कि विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में नामांकन लेने के बाद लगातार अनुपस्थित रहने वाले विद्यार्थियों का नामांकन रद्द भी किया जा सकता है। 75 प्रतिशत उपस्थिति वाले विद्यार्थियों को ही परीक्षा में बैठने दिये जाने के शिक्षा विभाग के निर्देश के बाद विश्वविद्यालय और कॉलेज प्रशासन इस संबंध में कार्रवाई शुरू कर दी है।

हाजिरी 75% से कम तो परीक्षा नहीं दे पाएंगे

शिक्षा विभाग ने भी उठाये कई कदम?

विश्वविद्यालय व कॉलेजों में पठन-पाठन का बेहतर वातावरण निर्माण को लेकर शिक्षा विभाग और राजभवन की ओर से हाल के महीने में कई कदम उठाये गए हैं। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के निर्देश पर लगातार कॉलेजों और विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया जा रहा है। निरीक्षण के दौरान सभी कॉलेजों में विद्यार्थियों की उपस्थिति कम मिल रही थी। पिछले दिनों उच्च शिक्षा की निदेशक रेखा कुमारी ने भी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को उपस्थिति बढ़ाने का निर्देश दिया था। कॉलेजों में उपस्थिति की रिपोर्ट राजभवन को भी भेजी जा रही थी।

कम हाजिरी पर परीक्षा प्रपत्र नहीं भर सकेंगे विद्यार्थी

  • विवि-कॉलेज प्रशासन को निर्देश का सख्ती से पालन करना होगा
  •  कम हाजिरी के बावजूद परीक्षा में शामिल करने पर राजभवन गंभीर

छात्र छात्राओं के लिए महत्वपूर्ण बातें फॉलो करें

  • हरकत में विवि पर लक्ष्य दूरः छात्रों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए विश्वविद्यालयों के स्तर से भी प्रयास शुरू किए गए हैं।
  •  फिर भी अधिकतर कॉलेजों में यह संतोषजनक नहीं है। 
  • इस बीच 75 फीसदी उपस्थिति नहीं होने के बावजूद विश्वविद्यालय और कॉलेजों में परीक्षा फॉर्म भराए जाने के मामले में सामने आ रहे थे। 
  • इसी वजह से राजभवन ने छात्रों की उपस्थिति को 75 प्रतिशत करने का निर्देश दियागया है।

कुछ महत्तवपूर्ण लिंक

YOUTUBESUBSCRIBE
TELEGRAMjoin

BRABU TDC Part 2 Exam Date 2023

पीपीयू स्नातक नामांकन 2023-27 के लिए फिर से मिलेगा आवेदन का मौका

PPU Part 1 Result 2023 Download link For B.Sc & B.A B.Com,From Patliputra University

BRABU UG 1st Merit List 2023

BRABU PG First Merit List 2023 Out

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top