SSC स्टेनोग्राफर की करें तैयारी- कम कम्पटीशन में मिलेगा सरकारी नौकरी

SSC स्टेनोग्राफर की करें तैयारी- कम कम्पटीशन में मिलेगा सरकारी नौकरी

टाइपिंग स्किल की मदद से स्टेनोग्राफर बन सकते हैं|

SSC स्टेनोग्राफर की करें तैयारी- कम कम्पटीशन में मिलेगा सरकारी नौकरी:–कोर्ट के बाहर अक्सर हमने बड़ी संख्या में लोगों को टाइपिंग करते हुए देखा है। इन्हें टाइपिस्ट कहा जाता है। कुछ लोग इन्हें स्टेनोग्राफर भी कहते हैं। ये लोग कोर्टरूम में भी मौजूद होते हैं। हालांकि शॉर्ट हैंड लिखने वाले लोगों को स्टेनोग्राफर कहा जाता है, मतलब ये कि ये लोग स्पीच को हाथों-हाथ कागज पर उतार सकते हैं। इनकी टाइपिंग स्पीड देखकर तो यकीन ही नहीं होता है कि क्या कोई इतनी तेजी से भी टाइपिंग कर सकता है। जब भी आप किसी टाइपिस्ट के पास जाते होंगे तो आपको भी अचरज हुआ होगा कि कैसे ये लोग इतनी जबरदस्त स्पीड से एकदम परफेक्ट टाइपिंग कर लेते हैं।

स्टेनोग्राफ पर लिखना कीबोर्ड पर टाइप करने जैसा

स्टेनोग्राफ पर लिखना कीबोर्ड पर टाइप करने की तुलना में पियानो बजाने जैसा है क्योंकि आप अलग-अलग रिजल्ट देने के लिए एक ही समय में अलग-अलग की प्रेस कर सकते हैं। हालांकि स्टेनोटाइप मशीन होने से कुछ नहीं होता, इसके लिए काफी ज्यादा प्रैक्टिस की जरूरत होती है। स्टेनोग्राफर बनने के लिए आपको कर्मचारी चयन आयोग की द्वारा आयोजित होने वाली परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा। इसके लिए आप इस प्रकार तैयारी कर सकते हैं। परीक्षा की तैयारी के लिए आपको सबसे पहले कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित होने वाली परीक्षा का पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न को समझना होगा। आपको इन विषय का सही से अध्ययन करना होगा। यदि आप परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाते हैं तो आपको टाइपिंग टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा। यदि आप टाइपिंग टेस्ट में भी उत्तीर्ण हो जाते हैं तो आपको स्टेनोग्राफर पद के लिए नियुक्ति पत्र जारी कर दिया जाता है।

परीक्षा के प्रश्न पत्र को हल करना चाहिए

कर्मचारी चयन आयोग द्वारा पूर्व में आयोजित होने वाली परीक्षा के प्रश्न पत्र को हल करना चाहिए, यह मार्केट में आसानी से मिल जाता है, इनको हल करने से परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के विषय में जानकारी मिल जाती है, इससे तैयारी में मदद मिलती है।

40 शब्द प्रति मिनट होती है गति

एक ठीक-ठाक टाइपिस्ट की बात करें तो वह नॉर्मल Qwerty कीबोर्ड पर औसतन 40 शब्द प्रति मिनट के हिसाब से टाइप कर सकता है। यह एवरेज स्पीड है। कुछ लोग ज्यादा तो कुछ लोग कम स्पीड से टाइपिंग करते हैं। प्रोफेशनल टाइपिस्ट 95 शब्द प्रति मिनट की स्पीड से औसतन दोगुना टाइप तक कर सकते हैं। वहीं स्टेनोग्राफर्स 99.8% की सटीकता के साथ 360 शब्द प्रति मिनट की स्पीड से टाइप कर सकते हैं।

स्टेनोग्राफ मशीन होती है खास

दरअसल, स्टेनोग्राफ मशीन नॉर्मल कीबोर्ड से पूरी तरह अलग होती है। रेगुलर कीबोर्ड प्रति स्ट्राइक 1 कैरेक्टर प्रोड्यूस करता है। वहीं स्टेनो कीबोर्ड अलग तरह से काम करता है। इसमें पूरा शब्द लिखने के बजाए शॉर्टहैंड का इस्तेमाल किया जाता है। शॉर्टहैंड स्पेलिंग पर नहीं, बल्कि साउंड पर बेस्ड होता है।

स्टेनोटाइप मशीन में होते हैं 22 की

स्टेनोटाइप मशीन में केवल 22 की दी जाती है। स्टेनोग्राफर अक्सर एक साथ कई की दवाते हैं और अपना काम पूरा करते हैं। कंप्यूटर कीबोर्ड में 101 की होते हैं। कुछ में 102 और कुछ में 104 की भी होते हैं। कीबोर्ड पर की की 6 लाइन होती हैं। फंक्शन की F1-F12 तक हैं। हालांकि कुछ खास कीबोर्ड में F24 तक के वटन भी होते हैं||

हिंदी या अंग्रेजी किसी भी भाषा में शॉर्टहैंड सीखने के बाद सरकारी नौकरी लगने के चांस ज्यादा हो जाते हैं क्योंकि इन क्षेत्रों में कंपटीशन कम होता है। राज्य स्तर पर और केंद्र स्तर पर स्टेनोग्राफर के लिए सरकारी पद बहुत सारे निकलते रहते हैं। केंद्र स्तर पर एसएससी में तथा राज्य स्तर पर न्यायालय में स्टेनोग्राफर के पद निकलते हैं।

नोट पैड या एमएस वर्ड पर होता है टेस्ट

अगर आप हिंदी भाषा में स्टेनो सीख रहे हैं तो आपको हिंदी भाषा की टाइपिंग आनी चाहिए। अगर आप इंग्लिश भाषा का स्टेनो सीख रहे हैं तो आपको इंग्लिश में टाइपिंग आना जरूरी है। अब टाइपिंग से सम्बंधित सभी टेस्ट कंप्यूटर पर नोटपैड या एमएस वर्ड में लिए जाते हैं। टेस्ट के लिए आप दो मिनट के दौरान अपने द्वारा सही ढंग से लिखे गए कुल शब्दों को जोड़ें। इसके बाद उसे दो से विभाजित करें, जो भी परिणाम आएगा वो आपका शॉर्टहैंड स्पीड वर्ड पर मिनट होगा।

मंगल फॉण्ट जानना है जरूरी

इस कोर्स की अवधि 6 माह से 1 वर्ष तक होती है। इसके आलावा बहुत कुछ सीखने और सिखाने वाले पर भी निर्भर करता है। अधिकतर सरकारी परीक्षाओं में शॉर्टहैंड (स्टेनो / आशुलिपि) हेतु कंप्यूटर पर हिंदी टाइपिंग के लिए मंगल फॉण्ट पर टाइपिंग करवाई जाती है। शॉर्टहैंड में सरकारी नौकरी हेतु कम से कम 60-80 शब्द प्रति मिनट की गति होनी चाहिए। टाइपिंग सीखने के लिए आप पॉलिटेक्निक या आईटीआई संस्थान में प्रवेश प्राप्त कर सकते है, आप निजी संस्थान से भी टाइपिंग सीख सकते है, परन्तु वह सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त होना चाहिए।

महत्वपूर्ण लिंक—

OFFICIAL WEBSITECLICK HERE
Whtsapp ChannelJOIN
TELEGRAM CHANNELJOIN
YOU TUBE CHANNELSUBSCRIBE

SSC दिल्ली पुलिस MTS (Civilian) 10वीं पास करें आवेदन–CLICK HERE

MHA IB MTS & SA/MT Online Form 2023 – मैट्रिक पास करें आवेदन–CLICK HERE

MHA IB MTS & SA/MT Online Form 2023 – मैट्रिक पास करें आवेदन

SSC दिल्ली पुलिस MTS (Civilian) 10वीं पास करें आवेदन

 10वीं पास के लिए सरकारी नौकरी – फ्री में यहाँ से भरें फॉर्म

BSSC 2nd inter level recruitment online form 2023- Apply Now

बिहार दारोगा भर्ती ऑनलाइन आवेदन शुरू – यहाँ से भरें फॉर्म

Indian Coast Guard Yantrik Navik Recruitment 2023|| जल्दी करें आवेदन

UPSSSC Recruitment Preliminary Examination Test (PET) 2023

SSC Stenographer Grade C & D Recruitment 2023 Apply Online

Rajasthan police constable Recruitment Online form 2023 apply

India Post GDS Recruitment Apply from july 2023

MHA IB MTS & SA/MT Online Form 2023 – मैट्रिक पास करें आवेदन

SSC दिल्ली पुलिस MTS (Civilian) 10वीं पास करें आवेदन

 10वीं पास के लिए सरकारी नौकरी – फ्री में यहाँ से भरें फॉर्म

BSSC 2nd inter level recruitment online form 2023- Apply Now

बिहार दारोगा भर्ती ऑनलाइन आवेदन शुरू – यहाँ से भरें फॉर्म

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top